देशवासियों की ओर से हमारे कुछ खास सांसदों को एक आवश्यक सन्देश

A view of the Indian Parliament building.

सांसद जी नमस्कार |

आप लोगों द्वारा पिछले कुछ दिनों में हमारे देश में कई मुद्दों को चर्चित बनाया गया | हमें आप से पिछले कुछ वर्षों में कई नयी बातें पता चलीं |

हमें आप ही से पता चला कि आत्महत्या करने वाले व्यक्ति की आत्महत्या का कारण जान कर उस का समाधान करने से ज्यादा जरुरी है कि उस व्यक्ति की जाति या धर्म क्या है |

हमें आप ही से पता चला कि व्यक्ति की धार्मिक भावनाएं आहत न हों इस का ध्यान रखने से ज्यादा ये मायने रखता है कि सामने वाले का धर्म क्या है |

हमें आप ही से पता चला कि किसी भी दंगे के कारणों को जानकर उस के लिए कुछ समाधान करने से ज्यादा जरुरी है ये जानना कि वो दंगा किस धर्म के लोगों ने किया और उस में किस धर्म के लोग मरे |

हमें आप ही से पता चला कि दंगे बुरे थे या नहीं ये इस बार पर निर्भर करता है कि उस राज्य में किस पार्टी की सरकार है | हमें आप ही से पता चला कि कुछ पार्टियों की सरकार में हुए दंगे बुरे नहीं अच्छे होते हैं |

हमें आप ही से पता चला कि अपराध और देशद्रोह करने वाले पर कार्रवाही करने से पहले ये पता करना जरुरी है कि वो किस पार्टी का समर्थक है |

हमें आप ही से पता चला कि कुछ पार्टी के समर्थको द्वारा किया गया अपराध और देशद्रोह सिर्फ मासूम लोगों द्वारा किया गया अभिव्यक्ति की आज़ादी का प्रयोग होता है |

हमें आप ही से ये पता चला कि हमने आप को जनता के लिए काम करने के लिए नहीं बल्कि हमें जाति और धर्म के नाम पर बांटने के लिए एवं सांसद में काम के अलावा सब कुछ करने के लिए चुना है |

अगर आप तक किसी तरह हमारा ये सन्देश पहुंच रहा हो तो थोड़े शर्मिंदा हो जाइए और जनता के लिए काम करने में जुट जाइए | जनता ने ५ साल के लिए आपको सांसद बनाया है ताकि आप हमारी समस्याओं के समाधान पर काम करें | कृपया कुछ तो काम कीजिये | बजट सेशन शुरू हो चुका है और पहले दिन की कार्रवाही में जो भी कुछ हंगामा हुआ उस से हमें इस सेशन का भी हाल पिछले २ सेशन की तरह होने की सम्भावना ज्यादा लग रही है | अगर थोड़ी भी जिम्मेदारी का अहसास आप में है तो ये सेशन पूरा चलने दें | जो भी मुद्दे हैं उन को शांति के साथ संसद में बातचीत से सुलझाएं | जनता की भलाई के लिए बनाये गए जो भी बिल संसद न चल पाने के कारण अटके हुए हैं उन पर बहस करें व उनको जल्दी से जल्दी पास करें |

याद रखिये, जनता अगर भड़क गयी तो न गद्दी रहेगी न ताज | अगर हम इस बार आपको अपना सांसद चुन सकते हैं तो अगली बार किसी और को भी मौका दे सकते हैं | इसीलिए बेहतर है कि आप जरा इन बातों पर गौर करें और हमारी भलाई के कामों में जुट जाएं | अब जनता का सब्र टूटता जा रहा है | इस के पहले कि जनता अगला मौका किसी और को देने का तय कर ले आप सुधर जाइए और जनसेवा में जुट जाइए |

ये सन्देश सिर्फ ऐसे खास सांसदों के लिए है जो कि काम के अलावा सब कुछ कर रहे हैं |

हम जानते हैं कि कई सांसद ऐसे भी हैं जो कि जनता की समस्याओं के निवारण के लिए गंभीरता से काम करना चाहते हैं और कर भी रहे हैं | ये सन्देश ऐसे कर्मठ सांसदों के लिए नहीं है | सभी कर्मठ सांसदों को हम धन्यवाद देते हैं और ये विश्वाश दिलाते हैं कि जनता आप को अगले चुनाव में वोट के रूप में धन्यवाद जरूर देगी |