देश की जनता से हमारे कुछ गंभीर सवाल

हम इस देश की जनता से ये सवाल पूछना चाहते हैं –

१) क्या अब सिर्फ व्यक्ति की जाति या धर्म के आधार पर ये फैसला होगा कि उस पर देशद्रोही नारे लगाने पर कार्रवाही की जाये या नहीं ?

२) क्या अब सिर्फ व्यक्ति की जाति या धर्म के आधार पर ये फैसला होगा कि उस पर भ्रष्टाचार का मुकद्दमा चले या नहीं ?

३) क्या अब सिर्फ व्यक्ति की जाति या धर्म के आधार पर ये फैसला होगा कि वह सच बोल रहा है या झूठ ?

४) क्या अब सिर्फ व्यक्ति की जाति या धर्म के आधार पर ये फैसला होगा कि उसे वोट देना है या नहीं ?

५) क्या अब सिर्फ व्यक्ति की जाति या धर्म के आधार पर ये फैसला होगा कि आप उस से मित्रता करेंगे या नहीं ?

अगर आप का जवाब इन सभी सवालों के लिए “नहीं” है तो आप एक जागरूक भारतीय नागरिक हैं और अगर “हाँ” है तो हम आपसे हाथ जोड़कर निवेदन कर रहे हैं कि आप अपनी सोच सुधारिये नहीं तो आप जैसे लोग ही एक दिन इस देश के साथ होने वाली किसी बड़ी दुर्घटना का कारण बनेंगे |

किसी जाति या धर्म के बनने से पहले भारतीय बनें | आप की सोच में सब से आगे आपका देश होना चाहिए | किसे वोट देना है, किसे समर्थन करना है, किस का विरोध करना है, ये सब फैसले करने के पहले देशहित का ख्याल करें | वही करें जो इस देश के हित में हो |

यदि सिर्फ अपनी जाति या धर्म के व्यक्ति को ही वोट दे देने से आपकी जाति या धर्म का विकास हो सकता होता तो आज इस देश में कोई भी जाति/धर्म में गरीब नहीं होते क्योंकि लगभग सभी जातियों और धर्मों के नेता आज सांसद में बैठे हुए हैं और सत्ता में भी रहे हैं | आप का विकास आपकी जाति या धर्म का व्यक्ति नहीं बल्कि वो व्यक्ति करेगा जो सच में आपका विकास करना चाहता है | जाति और धर्म के नाम पर वोट माँगने वाला तो कभी भी विकास नहीं करेगा क्योंकि यदि उसकी जाति या धर्म के लोगों का विकास हो गया तो फिर वो व्यक्ति जाति/धर्म के नाम पर झूठे सपने दिखा कर कैसे वोट मांग पायेगा ?

सोचिये और समझिए | ये समय आपस में जाति और धर्म के नाम पर लड़ने का नहीं बल्कि संगठित होकर सभी देशद्रोही ताकतों को मुहतोड़ जवाब देने का है | संगठित हो जाइए देशद्रोहियों के खिलाफ और हर उस इंसान के खिलाफ जो कि आज इस देश में जाति और धर्म के नाम पर लड़ रहा है या लड़ा रहा है |

आप किस धर्म के हैं या जाति के हैं ये बताने से ज्यादा गर्व खुद को भारतीय कहने में महसूस कीजिये |

जय हिन्द | वन्दे मातरम | भारत माता की जय |